WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

(KVP) किसान विकास पत्र योजना 2024 – आवेदन प्रक्रिया, पात्रता | Kisan Vikas Patra Yojana

साल 1988 में भारतीय केंद्र सरकार के द्वारा किसान विकास पत्र योजना को लांच किया गया था, जो एक सर्टिफिकेट योजना है। यह भारत सरकार की एक छोटी बचत योजना है। इस योजना में, निवेशक एकमुश्त राशि जमा करता है और 124 महीने (10.5 वर्ष) के बाद मूलधन और ब्याज दोनों दोगुना हो जाता है।

यह एक ऐसी योजना है, जिसमें आपके पैसे डूबने की संभावना नहीं होती है, क्योंकि सरकार इस योजना की देखरेख करती है। इस प्रकार से यह सरकार समर्थित योजना है।

Join Telegram group Join Now

Table of Contents

Kisan Vikas Patra (KVP) Yojana 2024

योजना का नामकिसान विकास पत्र योजना
साल2023
किसने शुरू कीकेंद्र सरकार
लाभार्थीदेश के नागरिक
उद्देश्यबचत पर अच्छा रिटर्न देना
निवेश की अवधि124 महीने
अधिकतम निवेशकोई सीमा नहीं
ब्याज दर6.9%
न्यूनतम निवेश₹1000
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.indiapost.gov.in/
हेल्पलाइन नंबर1800 266 6868

किसान विकास पत्र योजना

किसान विकास पत्र (KVP) भारत सरकार द्वारा संचालित एक छोटी बचत योजना है। इस योजना के तहत, निवेशक एकमुश्त राशि जमा करता है और 124 महीनों (10 वर्ष 4 महीने) के बाद मूलधन और ब्याज दोनों प्राप्त करता है। इस प्रकार, किसान विकास पत्र एक निश्चित दर वाली बचत योजना है, जिसमें निवेश की गई राशि को 10 वर्ष 4 महीने में दोगुना किया जा सकता है।

किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट

किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट तीन प्रकार के होते हैं:

  • सिंगल होल्डर सर्टिफिकेट: यह सर्टिफिकेट एक वयस्क व्यक्ति या नाबालिग के नाम पर जारी किया जाता है। इस सर्टिफिकेट पर केवल एक व्यक्ति का नाम होता है और यह व्यक्ति ही इसका हकदार होता है।
  • जॉइंट A सर्टिफिकेट: यह सर्टिफिकेट दो वयस्कों के नाम पर जारी किया जाता है। इस सर्टिफिकेट पर दोनों व्यक्तियों के नाम होते हैं और दोनों व्यक्ति ही इसका हकदार होते हैं। यदि दोनों व्यक्तियों में से कोई एक की मृत्यु हो जाती है, तो दूसरा व्यक्ति इसका हकदार होता है।
  • जॉइंट B सर्टिफिकेट: यह सर्टिफिकेट दो वयस्कों के नाम पर जारी किया जाता है। इस सर्टिफिकेट पर दोनों व्यक्तियों के नाम होते हैं, लेकिन केवल एक व्यक्ति का नाम प्राथमिक होल्डर होता है। यदि प्राथमिक होल्डर की मृत्यु हो जाती है, तो दूसरा व्यक्ति इसका हकदार होता है।

किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट की वैधता 124 महीने (10.5 वर्ष) है। मैच्योरिटी पर, निवेश की गई राशि दोगुनी हो जाती है।

किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट पर निम्नलिखित जानकारी होती है:

  • सर्टिफिकेट का प्रकार
  • सर्टिफिकेट का नंबर
  • निवेश की गई राशि
  • ब्याज दर
  • मैच्योरिटी की तारीख
  • नामांकित व्यक्ति का नाम (यदि कोई हो)

किसान विकास पत्र योजना ब्याज

किसान विकास पत्र में ब्याज दर हर तिमाही में भारत सरकार द्वारा तय की जाती है। वर्तमान में (31 अगस्त 2023 तक), किसान विकास पत्र योजना की ब्याज दर 6.9% प्रति वर्ष है। 124 महीने के बाद आपको यह 6.9% की दर से निवेश की राशि दुगनी करके प्रदान की जाएगी। इससे निवेशक को किसान विकास पत्र योजना से जल्दी बाहर निकलने की सुविधा मिलती है।

हालाँकि, यदि निवेशक खरीद के एक वर्ष के भीतर प्रमाणपत्र रद्द कर देता है, तो कोई ब्याज नहीं दिया जाएगा। इसके लिए आपको जुर्माना भी भरना पड़ेगा। हालाँकि, यदि प्रमाणपत्र खरीदने के एक वर्ष बाद भुगतान किया जाता है, तो आपको जुर्माना नहीं देना होगा, लेकिन ब्याज दर कम है। यदि निवेशक ढाई साल के बाद बाहर निकलता है, तो उसे 6.9% की ब्याज दर मिलेगी और कोई जुर्माना नहीं देना होगा।

किसान विकास पत्र योजना की राशि

किसान विकास पत्र योजना में निवेश की न्यूनतम राशि ₹1000 है और अधिकतम राशि ₹10 लाख है। इसका मतलब है कि आप ₹1000 से लेकर ₹10 लाख तक की राशि किसान विकास पत्र योजना में निवेश कर सकते हैं।

योजना में यदि आप 50000 से अधिक इन्वेस्टमेंट करते हैं तो आपको पैन कार्ड जमा करने की आवश्यकता होगी। वही 10 लाख डिपॉजिट मनी जमा करने के लिए आपको इनकम टैक्स प्रूफ जैसे की सैलरी स्लिप, ITR दस्तावेज, बैंक स्टेटमेंट इत्यादि को जमा करने की आवश्यकता हो सकती है।

Kisan Vikas Patra Yojana का उद्देश्य

किसान विकास पत्र योजना का उद्देश्य भारत में बचत को बढ़ावा देना और किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करना है। यह एक सुरक्षित और निश्चित आय योजना है जो दीर्घकालिक निवेश के लिए एक अच्छा विकल्प है।

किसान विकास पत्र के उद्देश्य निम्नलिखित हैं:

  • भारत में बचत को बढ़ावा देना
  • किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करना
  • लोगों को दीर्घकालिक निवेश के लिए प्रोत्साहित करना

किसान विकास पत्र योजना के लाभ एवं विशेषताएं

किसान विकास पत्र योजना के लाभ

किसान विकास पत्र के कई लाभ हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • सुरक्षा: किसान विकास पत्र योजना भारत सरकार द्वारा समर्थित है, इसलिए यह एक सुरक्षित निवेश विकल्प है।
  • निश्चित आय: किसान विकास पत्र योजना में निश्चित ब्याज दर मिलती है, जिससे आपको अपनी बचत पर निश्चित आय मिलती है।
  • दीर्घकालिक निवेश: किसान विकास पत्र योजना एक दीर्घकालिक निवेश योजना है, जो आपको अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए समय देती है।
  • कर लाभ: किसान विकास पत्र योजना में निवेश पर 1.5 लाख रुपये तक की आय पर कर छूट मिलती है।

किसान विकास पत्र योजना की विशेषताएं

किसान विकास पत्र की कुछ विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

  • न्यूनतम निवेश राशि: किसान विकास पत्र योजना में निवेश की न्यूनतम राशि ₹1000 है।
  • अधिकतम निवेश राशि: किसान विकास पत्र योजना में निवेश की अधिकतम राशि ₹10 लाख है।
  • ब्याज दर: किसान विकास पत्र योजना की ब्याज दर सरकार द्वारा हर तिमाही में तय की जाती है। 31 अगस्त 2023 तक, किसान विकास पत्र योजना की ब्याज दर 6.9% प्रति वर्ष है।
  • मैच्योरिटी अवधि: किसान विकास पत्र योजना की मैच्योरिटी अवधि 124 महीने (10.5 वर्ष) है।
  • नामांकन: किसान विकास पत्र योजना में नामांकन किया जा सकता है।
  • पुनर्निवेश: किसान विकास पत्र योजना में मैच्योरिटी पर प्राप्त राशि को फिर से किसान विकास पत्र में निवेश किया जा सकता है।

किसान विकास पत्र ट्रांसफर

Kisan Vikas Patra को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को निम्नलिखित स्थिति में ही ट्रांसफर किया जा सकता है।

  • खाता धारक की मृत्यु की स्थिति में
  • संयुक्त धारक की मृत्यु की स्थिति में
  • न्यायालय द्वारा आदेश देने पर
  • निर्देशित अधिकारी को खाते की प्लेज पर

Kisan Vikas Patra वापस लेने के नियम

किसान विकास पत्र को समय से पहले किसी भी समय बंद किया जा सकता है। यह निर्णय कुछ खास परिस्थितियों में ही ही लिया जाएगा। किसान विकास पत्र वापस लेने की स्थिति कुछ इस प्रकार है।

किसी एक या फिर सारे खाताधारकों की मृत्यु हो जाने की स्थिति में
न्यायालय के आदेश पर
जमा करने की तारीख के 2 साल 6 महीने बाद
राजपत्र अधिकारी द्वारा

किसान विकास पत्र अकाउंट कौन-कौन सकता है?

  • एक बालक व्यक्ति
  • संयुक्त खाता धारक (3 व्यक्तियों तक)
  • नाबालिक की ओर से अभिभावक

10 साल से ज्यादा उम्र का नाबालिक

किसान विकास पत्र की पात्रता

किसान विकास पत्र के लिए पात्रता मानदंड निम्नलिखित हैं:

  • निवेशक भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • निवेशक की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • यदि आवेदक माइनर है तो उसके माता-पिता इस योजना में निवेश कर सकते हैं।
  • हिंदू एकीकृत परिवार या फिर अनिवासी भारतीय इस योजना के अंतर्गत आवेदन नहीं कर सकते।

किसान विकास पत्र योजना के महत्वपूर्ण दस्तावेज

किसान विकास पत्र योजना के महत्वपूर्ण दस्तावेज निम्नलिखित हैं:

  • आधार कार्ड
  • पैन
  • मतदाता पहचान पत्र
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासपोर्ट
  • किसान विकास पत्र के लिए आवेदन पत्र
  • एड्रेस प्रूफ
  • DOB प्रूफ
  • फोन नंबर
  • ईमेल आईडी

किसान विकास पत्र योजना की आधिकारिक वेबसाइट

किसान विकास पत्र योजना की आधिकारिक वेबसाइट पोस्ट ऑफिस और इंडिया की अधिकारिक इंडिया पोस्ट है। इस वेबसाइट पर जाने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

किसान विकास पत्र योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

किसान विकास पत्र योजना ऑनलाइन आवेदन

  1. सबसे पहले आपको उस बैंक या डाकघर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा जहां से आप यह योजना खरीदना चाहते हैं।
  2. अब आपके सामने मुख्य पेज खुल जाएगा।
  3. मुख्य पेज पर आपको इन्वेस्टमेंट प्लान लिंक पर क्लिक करना होगा।
  4. अब आपको किसान विकास पत्र योजना के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  5. आपके सामने एक आवेदन पत्र खुल जाएगा।
  6. आपको इस आवेदन पत्र में सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करनी होगी।
  7. अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज संलग्न करने होंगे।
  8. इसके बाद आपको “सबमिट” बटन पर क्लिक करना होगा।

तो आप किसान विकास पत्र योजना 2023 के तहत आवेदन कर सकते हैं।

किसान विकास पत्र योजना ऑफलाइन आवेदन

  1. सबसे पहले आपको अपने स्थानीय डाकघर या बैंक जाना होगा।
  2. फिर आपको वहां किसान विकास पत्र योजना के लिए आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  3. इस आवेदन पत्र में सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करनी होगी।
  4. फिर आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज़ संलग्न करने होंगे।
  5. यह आवेदन उसी बैंक या डाकघर को संबोधित किया जाना चाहिए।

इस तरह आप किसान विकास पत्र योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं।

KVP ट्रांसफर करने की प्रक्रिया

  1. सबसे पहले आपको उस बैंक या डाकघर में जाना होगा जहां से आपने किसान विकास पत्र योजना का लाभ उठाया था।
  2. अब आपको उसे ट्रांसफर फॉर्म बी देना होगा।
  3. आपको इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी दर्ज करनी होगी।
  4. अब आपको इस फॉर्म के साथ सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज संलग्न करने होंगे। जो कि पहचान पत्र, निवास प्रमाण पत्र, मूल केवीपी प्रमाण पत्र और एक आवेदन है।
  5. इसके बाद आपको यह फॉर्म उसी बैंक या पोस्ट ऑफिस में भेजना होगा।

इस प्रकार आप किसान विकास पत्र योजना 2023 को पुनर्निर्धारित कर पाएंगे।

किसान विकास पत्र योजना हेल्पलाइन नंबर

योजना के माध्यम से हमने सभी महत्वपूर्ण जानकारी आपको उपलब्ध करवा दी है और अब आगे हम आपको योजना का हेल्पलाइन नंबर उपलब्ध करवा रहे हैं, ताकि योजना के बारे में अधिक जानकारी घर बैठे आप प्राप्त कर सके या अपनी शिकायत को दर्ज करवा सकते हैं।

1800 266 6868

होमपेजयहां क्लिक करें
अधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें

FAQ

किसान विकास पत्र पर ब्याज कितना है?

इस योजना में सालाना ब्याज दर 6.9% है।

किसान विकास पत्र योजना में पैसा कितने दिन दोगुना होता है?

किसान विकास पत्र योजना में पैसा 124 महीने में डबल हो जाता है।

किसान विकास पत्र में एजेंट को कितना कमीशन मिलता है?

किसान विकास पत्र में एजेंट को एक पर्सेंट कमीशन मिलता है।

किसान विकास पत्र कितने साल का होता है?

किसान विकास पत्र 10 साल के आसपास का होता है।

कौन सी स्कीम पोस्ट ऑफिस में पैसा दोगुना करती है?

किसान विकास पत्र योजना पोस्ट ऑफिस में पैसा डबल करती है।

अन्य पढ़ें –

अन्य महत्वपूर्ण योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजनापीएम किसान योजना 
नरेगा जॉब कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें?राष्ट्रीय वयोश्री योजना
छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री ज्ञान प्रोत्साहन योजनासुकन्या समृद्धि योजना
प्रधानमंत्री जन धन योजनापीएम मुद्रा योजना 
पीएम श्री योजनाप्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना
हरियाणा पराली प्रोत्साहन योजना यूपी पत्रकार आवास योजना
रोजगार संगम योजना पंजाब प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना
रोजगार संगम योजना हरियाणास्वाधार योजना महाराष्ट्र
रोजगार संगम योजना छत्तीसगढ़मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना 
Skill India Digital Free Certificate Coursesराष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना

Leave a Comment