WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

[2 रूपये किलो बिकेगा गोबर] गोबर खरीद योजना हिमाचल प्रदेश 2024 | Gobar Kharid Yojana Himachal Pradesh

गोबर खरीद योजना हिमाचल प्रदेश 2024, क्या है,कब शुरू होगी,लाभ, लाभार्थी, गोबर की कीमत, ऑनलाइन आवेदन,पात्रता, दस्तावेज, अधिकारिक वेबसाइट, हेल्पलाइन नंबर, ताज़ा खबर, स्टेटस (Gobar Kharid Yojana Himachal Pradesh in Hindi) (Cow Dung Selling, Price, Benefit, Beneficiary List, Online Apply, Eligibility, Documents, Official Website, Helpline Number, Latest News, Status)

Join Telegram group Join Now

Gobar Kharid Yojana Himachal Pradesh

योजना का नामगोबर खरीद योजना
कब लॉन्च की जायेगी2024
राज्यहिमाचल प्रदेश
कौन लांच करेगाहिमाचल के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू
उद्देश्यकिसानों की आय में वृद्धि करना और पशुपालन की ओर ध्यान आकर्षित करना
गोबर की कीमतबताया गया हैं कि ₹2 प्रति किलो गोबर की खरीद की जायेगी

गोबर खरीद योजना क्या है?

गोबर खरीद योजना एक सरकारी योजना है जिसका उद्देश्य किसानों और पशुपालकों को गोबर के लिए एक उचित मूल्य प्रदान करके उनकी आय बढ़ाना है। इस योजना के तहत, सरकार किसानों और पशुपालकों से गोबर खरीदती है और उन्हें प्रति किलोग्राम 2 रुपये का भुगतान करती है।

गोबर खरीद योजना की राशि

हिमाचल प्रदेश सरकार ने गोबर खरीद योजना शुरू करने के लिए सभी आवश्यकताओं और शर्तों को पूरा कर लिया है और बताया गया है कि यह योजना 2024 में लागू किया जाएगा। इस योजना के लिए कोई राशि आवंटित नहीं की गई थी लेकिन यह जरूर कहा गया था कि गोबर खरीदा जाएगा ₹2 प्रति किलो जिससे लोगों की आय बढ़ेगी। इस योजना में कहा गया है कि ब्लॉक के कुछ किसानों का पंजीकरण किया जाएगा और प्रगतिशील किसानों को भी समर्थन दिया जाएगा।

गोबर खरीद योजना का उद्देश्य

योजना का उद्देश्य किसानों और पशुपालकों को गोबर के लिए एक उचित मूल्य प्रदान करके उनकी आय बढ़ाना है। इस योजना के तहत, सरकार किसानों और पशुपालकों से गोबर खरीदती है और उन्हें प्रति किलोग्राम 2 रुपये का भुगतान करती है।

गोबर खरीद योजना के कुछ अन्य उद्देश्य निम्नलिखित हैं:

  • किसानों और पशुपालकों की आय बढ़ाना
  • गोबर के उपयोग को बढ़ावा देना, जिससे पर्यावरण संरक्षण में मदद मिलती है
  • जैविक खाद के उत्पादन को बढ़ावा देना, जिससे खेती की उत्पादकता बढ़ती है

गोबर खरीद योजना के लाभ एवं विशेषताएं

गोबर खरीद योजना के लाभ निम्नलिखित हैं:

  • किसानों और पशुपालकों की आय बढ़ाने में मदद करती है। गोबर खरीद योजना के तहत किसानों और पशुपालकों को गोबर के लिए एक उचित मूल्य मिलता है। इससे उनकी आय में वृद्धि होती है।
  • गोबर के उपयोग को बढ़ावा देती है, जिससे पर्यावरण संरक्षण में मदद मिलती है। गोबर एक बहुउपयोगी उत्पाद है जिसका उपयोग विभिन्न तरीकों से किया जा सकता है। गोबर खरीद योजना से गोबर के उपयोग को बढ़ावा मिलता है, जिससे पर्यावरण संरक्षण में मदद मिलती है।
  • जैविक खाद के उत्पादन को बढ़ावा देती है। गोबर जैविक खाद का एक महत्वपूर्ण स्रोत है। गोबर खरीद योजना से जैविक खाद के उत्पादन को बढ़ावा मिलता है, जिससे खेती की उत्पादकता बढ़ती है।

गोबर खरीद योजना की विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

  • सरकार द्वारा संचालित योजना है।
  • किसानों और पशुपालकों से गोबर खरीदने के लिए प्रति किलोग्राम 2 रुपये का भुगतान किया जाता है।
  • योजना के तहत, सरकार गोबर को जैविक खाद, ईंधन, बायोमास, और अन्य उत्पादों के निर्माण के लिए उपयोग कर सकती है।

गोबर खरीद योजना के लिए पात्रता

योजना के लिए पात्रता निम्नलिखित है:

  • यह हिमाचल प्रदेश द्वारा लॉन्च की गई योजना हैं तो भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • और साथ ही साथ वह हिमाचल प्रदेश का स्थाई निवासी भी होना चाहिए।
  • किसान या पशुपालक कोई भी इसके लिए पात्र हो सकता हैं।

गोबर खरीद योजना के आवश्यक दस्तावेज

गोबर खरीद योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज निम्नलिखित हैं:

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • पैन कार्ड
  • वोटर आई डी
  • बैंक पासबुक
  • फोटोज़

गोबर की खरीदी कैसे होगी

  • इस योजना के तहत गोबर की खरीद इस प्रकार की जायेगी पशुपालन विभाग द्वारा और कृषि विभाग द्वारा दोनों ने मिलकर दो नोडल अधिकारी नियुक्त किये हैं।
  • शुरुआती चरण में इस योजना के अंतर्गत एक ब्लॉक में 250 किसानों को पंजीकृत किया जाएगा।
  • और फिर उसके बाद इस योजना के अनुरूप छोटे सीमांत और प्रगतिशील किसानों को लाभान्वित करने के उद्देश्य उनके क्लस्टर बनाए जाएंगे।
  • किसानों को कुछ अन्य कार्यो के लिए भी प्रेरित किया जाएगा जैसे कृषि के साथ-साथ उन्हें मुर्गी पालन जैसे संबंध क्षेत्रों को भी अपनाने के लिए कहा जा सकता हैं, राज्य सरकार द्वारा।
  • और सरकार इस तरह के किसानों को भी अनुदान योजनाओं का भी लाभ प्रदान किया जाएगा।

गोबर खरीद योजना के तहत गोबर का क्या करेगी सरकार

  • राज्य सरकार के कृषि मंत्री ने कहा कि किसानों द्वारा खरीदा गया गोबर का भंडारण किया जाएगा।
  • गोबर की आपूर्ति बागवानी कृषि क्षेत्र और नर्सरी क्षेत्रों में सुनिश्चित की जायेगी।
  • कृषि मंत्री ने यह भी कहा कि जैविक उत्पादों के लिए विपणन संबंधी कार्य को करने के लिए बाजार उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • जिससे जैविक फैसलों को आकर्षक दामों में खरीदा जा सकता हैं फिर उसके बाद इससे किसानों की आय में वृद्धि देखने को मिल सकती हैं।

गोबर खरीद योजना आवेदन प्रक्रिया

गोबर खरीद योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया निम्नलिखित है:

  1. इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदन पत्र मंत्रालय से उपलब्ध हैं।
  2. मांगी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें।
  3. पढ़ने के बाद संबंधित जानकारी ध्यानपूर्वक दर्ज करें।
  4. इस प्रक्रिया में मांगे गए सभी दस्तावेजों को संलग्न कर विभाग को भेजना होगा।
  5. फिर, मंत्रालय द्वारा नियुक्त एक अधिकारी प्रत्येक ब्लॉक से 250 किसानों को योजना के लिए नामांकित करता है।
  6. इन व्यक्तियों को इस योजना के तहत उनका गोबर खरीद लिया जाएगा।
  7. इसके लिए कोई वास्तविक प्रक्रिया नहीं है, अधिकारियों द्वारा ब्लॉक के कुछ किसानों का चयन किया जाता है।
होमपेजयहां क्लिक करें
अधिकारिक वेबसाइटजल्द ही

FAQ

गोबर खरीद योजना किस राज्य में लागू की जायेगी?

हिमाचल प्रदेश

गोबर खरीद योजना में गोबर को कितने रूपये किलो के हिसाब से खरीदा जाएगा?

₹2 किलो के हिसाब से खरीदा जाएगा।

गोबर खरीद योजना को किस मुख्यमंत्री द्वारा लॉन्च किया गया हैं?

ठाकुर सुखविंदर सिंह सुखु

गोबर खरीद योजना को कब लॉन्च किया जाएगा?

2024 में।

अन्य पढ़ें –

अन्य महत्वपूर्ण योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजनापीएम किसान योजना 
नरेगा जॉब कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें?राष्ट्रीय वयोश्री योजना
छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री ज्ञान प्रोत्साहन योजनासुकन्या समृद्धि योजना
प्रधानमंत्री जन धन योजनापीएम मुद्रा योजना 
पीएम श्री योजनाप्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना
हरियाणा पराली प्रोत्साहन योजना यूपी पत्रकार आवास योजना
रोजगार संगम योजना पंजाब प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना
रोजगार संगम योजना हरियाणास्वाधार योजना महाराष्ट्र
रोजगार संगम योजना छत्तीसगढ़मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना 
Skill India Digital Free Certificate Coursesराष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना

Leave a Comment